भा.कृ.अनु.प.-भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी में मनाया गया कृषि शिक्षा दिवस

दिनांक 03 दिसम्बर, 2017, भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद्-भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी में ’कृषि शिक्षा दिवस’ 03 दिसम्बर, 2017 को उत्साहपूर्ण मनाया गया। समारोह की अध्यक्षता संस्थान के निदेशक डाॅ. बिजेन्द्र सिंह ने किया और कृषि उपयोगी सार्थक शोध कार्यों को किसानों तक पहुँचाने पर जोर दिया। किसानों की समस्याओं के निवारण हेतु हिन्दी में पत्र-पत्रिकाओं के माध्यम से किसान प्रशिक्षण के साथ-साथ विभिन्न स्कूलों के छात्र/छात्राओं एवं अध्यापकों के मध्य भी कृषि शिक्षा को पहुँचाने पर बल दिया। इस कार्यक्रम में 10 विभिन्न स्थानीय स्कूलों से आये सभी प्रधानाचार्यों एवं 200 छात्र/छात्राओं को कृषि शिक्षा जन जागरण अभियान के तहत सरल एवं सुरूचिपूर्ण संवादों में कृषि शिक्षा को घर-घर एवं जन-जन तक पहुँचाने का आह्वान किया। राष्ट्रीय स्तर पर इस संस्थान के द्वारा प्रकाशित सब्जी किरण का हिन्दी भाषा में प्रकाशन प्रयोगशाला से कृषि प्रक्षेत्र तक विभिन्न सब्जी उत्पादन के पहलुओं को पहुँचाने व प्रचार-प्रसार में अग्रणी भूमिका निभाने हेतु सराहनीय प्रशंसा की। कार्यक्रम में संस्थान के विभागाध्यक्षों डाॅ. अवधेश बहादुर राय एवं डा. प्रभाकर मोहन सिंह ने अपने विचार व्यक्त किये। इस कृषि शिक्षा दिवस पर छात्र/छात्राओं के लिये वाद-विवाद, प्रश्नोत्तरी एवं चित्र कला जैसी प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया तथा विजेताओं को पुरस्कार वितरण किया गया। इस अवसर पर उपस्थित मुख्य अतिथि प्रोफेसर डा. बी. के. त्रिपाठी, निदेशक, आई.यू.सी.टी.ई., वाराणसी ने अपने सम्बोधन् में सभी छात्र/छात्राओं को कृषि शिक्षा व शोध कार्यों को आगे बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया। डा. त्रिपाठी ने संस्थान में चल रहे शोध कार्यों की सराहना की एवं ’कृषि शिक्षा दिवस’ को किसानों के बीच मनाने का आह्वान किया जिससे किसानों को नवीनतम कृषि तकनीकियों की जानकारी उपलब्ध हो सके और राष्ट्रीय स्तर पर चल रहे अभियान व कार्यक्रम ’’2022 तक किसानों की आय दोगुनी’’ करने का संकल्प पूर्ण हो सके।
.

sdimage2image2

click here to view more pictures